अंतर्राष्ट्रीय समान वेतन दिवस 2022 : 18 सितंबर

अंतर्राष्ट्रीय समान वेतन दिवस (International Equal Pay Day) 18 सितंबर को मनाया जाता है। यह पहली बार वर्ष 2020 में मनाया गया। इस दिन का उद्देश्य समान मूल्य के काम के लिए समान वेतन प्राप्त करना और महिलाओं और लड़कियों के खिलाफ भेदभाव को खत्म करना है। इसका प्रमुख उद्देश्य लिंग वेतन अंतर के भेदभाव को समाप्त करना है।

महत्त्व :

आधुनिक समय में यह दिन बहुत महत्व रखता है क्योंकि यह दर्शाता है कि मजदूरी असमानता अभी भी एक वास्तविकता है। यह दिवस महिलाओं को विभिन्न अभियानों के माध्यम से इस मुद्दे को उठाने के लिए एक वैश्विक मंच प्रदान करता है। अंतर्राष्ट्रीय समान वेतन दिवस भी लोगों को इसके कार्यान्वयन के लिए रणनीतियों की पहचान करके सामाजिक कारणों से जुड़ने के लिए प्रोत्साहित करता है।

इस दिन का इतिहास :

अंतर्राष्ट्रीय समान वेतन दिवस पहली बार 1996 में नेशनल कमेटी ऑन वेज इक्विटी द्वारा मनाया गया था। यह महिलाओं और नागरिक अधिकार संगठनों का एक गठबंधन था जिसने लिंग और नस्ल-आधारित वेतन भेदभाव को समाप्त करने की दिशा में काम किया। इसका लक्ष्य वेतन इक्विटी हासिल करना था। संयुक्त राष्ट्र संघ ने लिंग वेतन अंतर को देखते हुए नवंबर 2019 में एक प्रस्ताव पेश किया, इस प्रस्ताव का मुख्य उद्देश्य लिंग वेतन अंतर को समाप्त करना है। साल 2020 में 18 सितंबर को पहली बार अंतरराष्ट्रीय समान वेतन दिवस मनाया गया।

Leave a Comment

Your email address will not be published.