एनएचए ने आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन योजना के तहत क्यूआर कोड आधारित रैपिड ओपीडी पंजीकरण शुरू किया।

  • राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण ने अपनी प्रमुख योजना आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के तहत अस्पताल में क्यूआर कोड आधारित रैपिड ओपीडी पंजीकरण शुरू किया है।
  • यह सेवा पुराने और साथ ही नए रोगियों को केवल एक क्यूआर कोड स्कैन करने और नाम, पिता का नाम, आयु, लिंग, पता और मोबाइल नंबर जैसे जनसांख्यिकीय विवरण अस्पताल के साथ साझा करने की अनुमति देती है।
  • स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, इससे ओपीडी पंजीकरण काउंटर पर लगने वाले समय को कम करने और लंबी कतारों से बचने में मदद मिलेगी. नई दिल्ली में लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज के ओपीडी ब्लॉक और श्रीमती सुचेता कृपलानी अस्पताल में पायलट आधार पर क्यूआर कोड आधारित रैपिड ओपीडी पंजीकरण शुरू किया गया है। जल्द ही इस सेवा को अन्य स्वास्थ्य सुविधाओं और विभागों में विस्तारित करने की योजना है।