वीर बाल दिवस : 26 दिसंबर

केंद्र सरकार ने 26 दिसंबर को सिखों के दसवें गुरु गोविंद सिंह जी के युवा पुत्रों साहिबजादा जोरावर सिंह जी और साहिबजादा फतेह सिंह जी के द्वारा 26 दिसंबर,1705 को सिख धर्म की गरिमा और गौरव की रक्षा के लिए केवल 9 और 6 वर्ष की आयु में सर्वोच्च और अद्वितीय बलिदान देने की स्मृति में “वीर बाल दिवस” के रूप में मनाने का निर्णय लिया है।

गुरु गोबिंद सिंह जी के चार बेटे थे- साहिबजादा अजीत सिंह, साहिबजादा जुझार सिंह, साहिबजादा जोरावर सिंह और साहिबजादा फतेह सिंह। उनके सभी चार बेटों को खालसा में दीक्षित किया गया था और सभी को 19 वर्ष की आयु से पहले मुगल सेनाओं द्वारा मार डाला गया था। सिख धर्म गुरु गोबिंद सिंह जी के शानदार शहीद पुत्रों को उनकी वीरता और बलिदान के लिए ‘चार साहिबजादे’ के रूप में सम्मानित करता है। वह खालसा योद्धा क्रम के चार राजकुमार हैं।

Source : MHA Press Release 9 Jan 2021

3 thoughts on “वीर बाल दिवस : 26 दिसंबर”

  1. Hon’ble Prime Minister of India.
    I share sincere gratitude for the Declaration of Vir Bal Diwas on 26th December

  2. I share sincere gratitude to the Hon’ble prime Minister of India 🇮🇳 for the Declaration of 26th December as Vir Bal Diwas.

Leave a Comment

Your email address will not be published.