शहीद-ए-आजम भगत सिंह की 115वीं जयंती के अवसर चंडीगढ़ हवाई अड्डे का नाम शहीद भगत सिंह के नाम कर दिया।

शहीद-ए-आजम भगत सिंह की 115वीं जयंती के अवसर पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 28 सितंबर को चंडीगढ़ अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे का नाम बदलकर शहीद भगत सिंह अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा कर दिया।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चंडीगढ़ अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का नाम शहीद भगत सिंह के नाम पर रखने की घोषणा की और उन्हें श्रद्धांजलि दी।

  • भगत सिंह का जन्म 28 सितंबर 1907 को पंजाब प्रांत में हुआ था, जो अब पाकिस्तान में है। 23 साल की उम्र में उन्हें ब्रिटिश औपनिवेशिक शासकों ने फांसी पर लटका दिया था।
  • 24 पुलिस अधिकारियों ने भगत सिंह को उनके पैतृक गांव खटकर कलां में विशेष श्रद्धांजलि दी।
  • भगत सिंह को भारतीय राष्ट्रवादी आंदोलन के सबसे शक्तिशाली क्रांतिकारियों में से एक माना जाता है। वह विभिन्न क्रांतिकारी संगठनों में शामिल हुए और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन में एक प्रमुख व्यक्ति थे।