1 अक्टूबर 2022 से टॉरसो एयरबैग प्रणाली एम 1 वर्ग के वाहनों में लगाना अनिवार्य

14 जनवरी 2022 को, सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने केंद्रीय मोटर वाहन नियम (CMVR), 1989 में संशोधन किया। 1 अक्टूबर 2022 से एम1 क्लास के वाहनों में “टू साइड/टू साइड” टोर्सो एयर बैग्स और टू साइड कर्टेन/ट्यूब एयर बैग्स होना अनिवार्य कर दिया गया है।

एयरबैग प्रणाली क्या है ?

“एयरबैग ऐसी प्रणाली है, जो वाहन के डैशबोर्ड पर लगी होती है तथा दुर्घटना होने की स्थिति में वाहन चालक व गाड़ी के सामने वाले हिस्से के बीच गुब्बारे की तरफ फूलकर वाहन चालक को गंभीर रूप से घायल होने से बचाती है।”

केंद्रीय मोटर वाहन नियम, 1989 में संशोधन करके उसमें दिये गये सुरक्षा शर्तों में इजाफा किया गया-

  • वाहन चालक सहित आगे बैठने वाली सवारी की सुरक्षा के लिए फ्रंट एयरबैग लगाये जायें।
  • सभी यात्री वाहनों में दो साइड/साइट टॉरसो एयरबैग लगाये जायें और दो साइड कर्टन/ट्यूब एयरबैग लगाये जायें। इस तरह आगे तथा पीछे, दोनों कंपार्टमेंट में बैठे लोगों के सामने और पीछे से होने वाली टक्करों के असर को कम किया जा सकेगा।
  •  “ दो साइड/ दो साइड टॉरसो एयरबैग” का अर्थ गुब्बारे की तरह फूलने वाली प्रणाली है, जिसे सीटों या वाहन के भीतर साइड में लगाया जायगा | उसे इस तरह डिजाइन किया जायेगा कि बगल से होने वाली टक्कर के समय शरीर की चोट को कम किया जा सके और सवारी को बाहर गिरने से बचाया जा सके।
  • साइड से टक्कर होने के समय या गाड़ी पलटने की स्थिति में सिर में चोट लगने से बचा जा सकता है, (यह पीछे बैठी सवारियों को सुरक्षित करने के लिए है)।

 source: सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय

Leave a Comment

Your email address will not be published.