राजनीति करंट अफेयर्स

Indian Polity Current Affairs in Hindi for Competitive Exams. 

दारुपदी मुर्मू ने भारत के नए राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली।

  • द्रौपदी मुर्मू ने 25 जुलाई 2022 को भारत के 15वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली।
  • वह अब भारत की राष्ट्रपति बनने वाली पहली आदिवासी और दूसरी महिला हैं।
  • संसद के सेंट्रल हॉल में, द्रौपदी मुर्मू ने भारत के मुख्य न्यायाधीश एन.वी. रमण द्वारा शपथ दिलाई।
  • इस समारोह में पीएम नरेंद्र मोदी और अन्य वरिष्ठ राजनेताओं ने भाग लिया।

पहली आदिवासी महिला द्रौपदी मुर्मू बनीं भारत की 15वीं राष्ट्रपति

  • द्रौपदी मुर्मू को भारत की 15वीं राष्ट्रपति के रूप में चुना गया है।
  • राष्ट्रपति चुनाव के लिए रिटर्निंग ऑफिसर और राज्यसभा के महासचिव पीसी मोदी ने 21 जुलाई की शाम को वोटों की गिनती पूरी होने के बाद सुश्री मुर्मू के चुनाव की घोषणा की।
  • सुश्री मुर्मू को 64% वोट मिले और विपक्षी उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को 36% वोट मिले।
  • महासचिव ने कहा कि 4754 वैध मतदाताओं में मुर्मू को 540 सांसदों सहित 2824 सांसदों के वोट मिले और वोट का मूल्य 676803 है.
  • श्री सिन्हा को 208 सांसदों सहित 1877 सांसदों के वोट मिले और वोट का मूल्य 380177 है।
  • सुश्री मुर्मू पहली आदिवासी महिला और भारत की राष्ट्रपति का पद संभालने वाली दूसरी महिला हैं।

सरकार ने पीटी उषा, इलैयाराजा, वी विजयेंद्र प्रसाद, वीरेंद्र हेगड़े को राज्यसभा के लिए नामित किया है।

  • सरकार ने 6 जुलाई 2022 को दक्षिणी राज्यों की 4 जानी-मानी हस्तियों को राज्यसभा के लिए मनोनीत किया है।
  • इस कदम को भाजपा के दक्षिण भारत में प्रवेश करने के प्रयास के रूप में देखा जा रहा है – पार्टी की अंतिम सीमा जिसे उसे अभी भी जीतना है।

पीटी उषा

पीटी उषा जिसे ‘पायोली एक्सप्रेस’ के नाम से जाना जाता है, भारत के सबसे प्रतिष्ठित खिलाड़ियों में से एक है। पीटी उषा ने देश का प्रतिनिधित्व किया है और विश्व जूनियर आमंत्रण मीट, एशिया चैंपियनशिप और एशियाई खेलों सहित विभिन्न अंतरराष्ट्रीय खेल आयोजनों में पदक जीते हैं। पीटी उषा अर्जुन पुरस्कार और पद्म श्री प्राप्तकर्ता भी हैं।

इलयराजा

तमिलनाडु के मदुरै जिले के एक गाँव में एक दलित परिवार में जन्मे इलैयाराजा को भारत के महान संगीतकारों में से एक माना जाता है। 5 दशकों से अधिक के करियर में, उन्होंने 1000 से अधिक फिल्मों के लिए 7,000 से अधिक गीतों की रचना की है और दुनिया भर में 20,000 से अधिक संगीत कार्यक्रमों में प्रदर्शन किया है। 2018 में, इलैयाराजा को पद्म विभूषण मिला और इलैयाराजा को पद्म भूषण से भी सम्मानित किया गया है।

वीरेंद्र हेगड़े

वीरेंद्र हेगड़े ने 20 साल की उम्र से कर्नाटक में धर्मस्थल मंदिर के धर्माधिकारी के रूप में काम किया है। वीरेंद्र हेगड़े 5 दशकों से अधिक समय से एक समर्पित परोपकारी व्यक्ति हैं। उन्होंने ग्रामीण विकास और स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न परिवर्तनकारी पहलों का नेतृत्व किया है।

केवी विजयेंद्र प्रसाद

आंध्र प्रदेश के कोव्वूर में जन्मे केवी विजयेंद्र प्रसाद ने कई प्रमुख तेलुगु और हिंदी फिल्मों की कहानी लिखी है। वह देश के सबसे प्रसिद्ध फिल्म निर्देशकों में से एक एसएस राजामौली के पिता हैं।

योगी आदित्यनाथ 25 मार्च 2022 को दूसरे कार्यकाल के लिए उत्तर प्रदेश में सीएम के रूप में शपथ ली।

योगी आदित्यनाथ ने 25 मार्च 2022 को लखनऊ में एक भव्य समारोह में लगातार दूसरे कार्यकाल के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। केशव प्रसाद मौर्य और ब्रजेश पाठक को उप-मुख्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई गई। इनके अलावा राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने 50 अन्य मंत्रियों को भी शपथ दिलाई गयी। इनमें 16 कैबिनेट मंत्री, स्वतंत्र प्रभार के साथ 14 राज्य मंत्री और 20 राज्य मंत्री हैं।

शपथ ग्रहण समारोह लखनऊ के अटल बिहारी वाजपेयी ईकाना क्रिकेट स्टेडियम में, बड़ी संख्या में एकत्र लोगों के बीच, संपन्न हुआ।

समारोह में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर, भारतीय जनता पार्टी के अनेक शीर्ष नेता और भाजपा शासित अन्य राज्यों के मुख्य मंत्री भी उपस्थित थे।

भगवंत मान ने पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली

भगवंत मान ने 16 मार्च 2022 को पंजाब के 18वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। भगत सिंह के पैतृक गांव खटकर कलां में शपथ ग्रहण समारोह में आम आदमी पार्टी (आप) के समर्थक ‘बसंती’ पगड़ी और दुपट्टे में आए। बसंती स्वतंत्रता सेनानी भगत सिंह से जुड़ा रंग है ।

This image has an empty alt attribute; its file name is Bhagwant-Mann-4.jpg

आम आदमी पार्टी के प्रमुख और दिल्ली के सीएम, अरविंद केजरीवाल भी शपथ समारोह में उपस्थित थे । AAP ने राज्य में भारी अंतर से जीत हासिल की और कांग्रेस को सत्ता की सीट से बाहर कर दिया।

राज्य विधानसभा चुनाव 2022 परिणाम: BJP ने यूपी, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में सत्ता बरकरार रखी, पंजाब में AAP की जीत।

10 मार्च 2022 को 5 राज्यों की विधानसभा का परिणाम घोषित किये गए। बीजेपी ने उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में सत्ता बरकरार रखी, आम आदमी पार्टी ने पंजाब में शानदार जीत हासिल की।

उत्‍तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी को लगातार दूसरी बार सत्ता में आने की ऐतिहासिक सफलता मिली है। 403 सदस्‍यों की विधानसभा में उसे 255 सीटे मिली हैं। सहयोगी पार्टियां अपना दल (सोनेलाल) ने 12 सीट और निषाद पार्टी ने 6 सीट जीती हैं।

समाजवादी पार्टी ने 111 सीटों पर जीत दर्ज की है. इसके सहयोगी सहयोगी रालोद ने आठ जबकि सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी ने छह सीटें जीती हैं। जनसत्ता दल लोकतांत्रिक को दो सीटें मिली हैं। कांग्रेस को सिर्फ 2 और बहुजन समाज पार्टी को 1 सीट मिली। राज्य की सभी 403 सीटों के नतीजे घोषित कर दिए गए हैं.

उत्तराखंड में भारतीय जनता पार्टी ने पूर्ण बहुमत प्राप्त कर लिया है। उसे 70 सदस्यों की विधानसभा में 47 सीटों पर विजय मिली है। कांग्रेस ने 19 सीट जीती हैं। बहुजन समाज पार्टी और निर्दलीय उम्मीदवार दो-दो सीटों पर विजयी रहें हैं।

गोआ में भाजपा को 40 सदस्यों की विधानसभा में 20 सीटें मिली हैं। कांग्रेस 11 सीटों पर जीतने में सफल रही। महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी और आम आदमी पार्टी को दो-दो सीट मिली हैं। पहली बार चुनाव लड़ने वाली रिवॉल्‍यूशनरी गोअंस पार्टी ने एक सीट जीती है। गोआ फॉरवर्ड पार्टी को भी एक सीट मिली है। तीन निर्दलीय प्रत्‍याशी भी जीतने में सफल रहे।

मणिपुर में 60 सदस्यों की विधानसभा में भाजपा ने 32 सीटें जीत कर बहुमत प्राप्त कर लिया है। पार्टी को 37 दशमलव आठ-तीन प्रतिशत वोट मिले। नेशनल पीपुल्‍स पार्टी 17 दशमलव दो-नौ प्रतिशत वोटों के साथ सात सीटें जीतने में सफल रही, लेकिन एनपीपी के प्रदेश अध्यक्ष चुनाव हार गए हैं। जनता दल यूनाइटेड ने 10 दशमलव सात-सात प्रतिशत वोट के साथ छह सीट जीती हैं। कांग्रेस को 16 दशमलव आठ-तीन प्रतिशत वोट के साथ पांच सीटों पर जीत मिली है। नगा पीपुल्स फ्रंट को पांच सीट मिली हैं। कुकी पीपुल्स एलांयस ने दो सीट जीती हैं। तीन निर्दलीय उम्‍मीदवार भी चुनाव जीतने में सफल रहे।

पंजाब‍ में आम आदमी पार्टी ने विधानसभा चुनावों में बहुमत के साथ शानदार जीत दर्ज की है। पार्टी ने 117 सदस्‍यों वाली विधानसभा में 92 सीटें जीती। कांग्रेस मात्र 18 सीटों पर ही कामयाबी हासिल कर सकी। शिरोमणि अकाली दल को तीन और भारतीय जनता पार्टी को दो सीटें मिली। बहुजन समाज पार्टी और निर्दलीय को एक-एक सीट मिली।